मनोज ज्वाला

वर्ष १९८७ से पत्रकारिता व साहित्य में सक्रिय, विभिन्न पत्र-पत्रिकाओं से सम्बद्ध । समाचार-विश्लेषण , हास्य-व्यंग्य , कविता-कहानी , एकांकी-नाटक , उपन्यास-धारावाहिक , समीक्षा-समालोचना , सम्पादन-निर्देशन आदि विविध विधाओं में सक्रिय । सम्बन्ध-सरोकार- अखिल भारतीय साहित्य परिषद और भारत-तिब्बत सहयोग मंच की राष्ट्रीय कार्यकारिणी के सदस्य । सम्पर्क- लेखनी प्रकाशन, 2592-A, नलवा गली, पहाडगंज, नई दिल्ली-55 दूरभाष- 9431308362 ई-मेल- [email protected]



भगवा योगी

भगवा योगी की जय! अर्थात, सफेद-आतंकियों की पराजय

नियति का परिवर्तन-चक्र अपनी रीत-नीति व गति से ऐसे चल रहा है , जैसे किसी अतिक्रमण-ग्रस्त इलाके में स्थित  मकानों-दुकानों-भवनों को ढाहते-रौंदते हुए कोई बुल्डोजर कहर बरपा रहा हो ।…